भगवान राम का मक़सद राम राज्य बनाना था: राजनाथ सिंह।

शनिवार को लखनऊ में एक सभा में होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह ने भगवान कृष्ण और भगवान राम को लेकर एक विवादित बयान दे दिया। राजनाथ सिंह ने कहा ” भगवान राम और भगवान कृष्ण ने भी राजनीति की थी, राम की राजनीति का उद्देश्य ‘राम राज्य’ लाना था।” और कहा कि भारत में आज़ादी से पहले से राजनीति होती आयी है।

इससे पहले बीजेपी के नेता बिप्लब देब और त्रिपिरा के मुख्यमंत्री भी दो बार विवादित बयान दे चुके हैं। ज्ञात हो कि बिप्लब देब ने कहा था कि इंटरनेट और सेटेलाइट फ़ोन का अस्तित्व महाभारतकाल से है, और इसके बाद डायना हेडन को लेकर ग़लत बयानबाज़ी की जो पूर्व मिस वर्ल्ड रह चुकी हैं, इसको लेकर उन्हें सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल किया गया था।

बीते दिनों प्रधानमंत्री ने नमो ऐप के द्वारा बीजेपी मंत्रियों और नेताओं को ग़लत बयानबाज़ी से बचने की सलाह दी थी, और फटकार लगाई थी। उन्होंने कहा के ऐसा करके आप लोग मीडिया को खुद मसाला देते हैं और बाद में मीडिया को ज़िम्मेदार ठहराते हैं, मीडिया अपना काम सही से कर रहा है। लेकिन इसके बाद भी बीजेपी के कुछ नेता इस तरह की बयानबाज़ी से बाज़ नहीं आ रहे हैं।

मोदी जी ने सबको चेतावनी देते हुए कहा कि ऐसा करने से पार्टी की छवि ख़राब होती है।

Loading...

शायद आपको ये भी अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक

Loading...